अध्यापको की मेहनत लाई रंग,उत्कृष्ट विद्यालय को मिला खेल मैदान

सुश्री शमां परवीन अध्यापिका

कोटा – बोरदा ग्राम पंचायत के अंतर्गत राजकीय उत्कृष्ट उच्च प्राथमिक विद्यालय बांगरोद को उत्कृष्ट विद्यालय बने हुए 3 साल के करीब हो गए हैं विद्यालय में पर्याप्त छात्र-छात्राएं हैं टीचर है उत्कर्ष विद्यालय की सभी सुविधाएं फिर भी एक कमी शिक्षकों औऱ गांव वालों को हमेशा खलती थी वह थी गांव में उत्कृष्ट विद्यालय होते हुए भी खेल का मैदान का नही होना । दो-तीन साल गुजर जाने के बाद भी खेल का मैदान सरकार द्वारा उपलब्ध नही करवाया गया ।  इससे विद्यार्थियों को खेलने में परेशानी होती थी पढ़ाई के साथ साथ सरकार बच्चों के खेलों पर भी ध्यान दे रही हैं और जब यहा उत्कृष्ट विद्यालय है तो खेल का मैदान होना जरूरी था

प्रधानाध्यापक राजेश कुमार मेहरा ने बताया कि हमारे उत्कृष्ट विद्यालय में सरकार की विभिन्न योजनाएं चल रही है जैसे अक्षयदान पेटिका योजना इस योजना में एक पेटी या गुल्लक बनाकर विद्यालय में रखते है जिसमें जो भी महानुभाव विद्यालय में विजिट करते है वह अपनी इच्छानुसार कुछ दान कर सकते है औऱ जनसहयोग से इस पेटिका में दान इक्कठा होता रहता है इस पेटिका के पेसो का उपयोग विद्यालय के विकास में उपयोग किया जाता है इसके अलावा विद्यालय में बालिकाओं के लिए सेप्टी नेपकिन योजना चल रही है जिसमे बालिकाओं को सेप्टी नेपकिन वितरित किया जाता है स्कूल में दूध योजना भी चल रही है बच्चों को सप्ताह में तीन दिन दूध पिलाया जाता है

प्रधानाध्यापक राजेश कुमार मेहरा

राजेश कुमार मेहरा ने आगे बताया कि विद्यालय में सब कुछ होते हुए भी खेल के मैदान की कमी थी हम दो सालों से इसके लिए गांव वालों के सहयोग से, सरपंच,सचिव औऱ अन्य लोगो के सहयोग से हमे विद्यालय के पीछे ही खेल मैदान मिला है इससे विद्यालय के सभी शिक्षकों में खुशी का माहौल है अब बच्चों को पर्याप्त खेल खेलने में मिलेंगे ,जिससे कि उनका सर्वांगीण विकास हो सकेगा।अब हमारी शिक्षा विभाग और सरकार से विनती है कि स्कूल के लिए खेल मैदान तो दे दिया है लेकिन अब इसमे खेलने के लिए विभिन्न सामान झूले वगैरह और मैदान की सुरक्षा के लिए बाउंड्री दीवार की भी व्यवस्था करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *