धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी ,पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे काफिले को रोका

प्रियंका का आरोप- मुझे गिरफ्तार किया गया

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार सुबह यहां के एक अस्पतालमें सोनभद्र हत्याकांड में जख्मी लोगों से मुलाकात की। वे सड़क मार्ग से सोनभद्र रवाना हुईं, लेकिन पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने उन्हें नारायणपुर (मिर्जापुर) मेंरोक दिया। इसके बाद प्रियंका धरने पर बैठ गईं। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ चार लोगों के साथ पीड़ित परिवारों से मिलना चाहती हूं। पुलिस ने कहा कि मुझे रोकने के लिए ऊपर से फोन आया है।

सोनभद्र ! के घोरावल में 17 जुलाई को जमीन विवाद में 10 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान यज्ञदत्त भोर्तिया समेत अभी तक 27 लोगों को गिरफ्तार किया है। प्रियंका ने लोगों से हत्याकांड की पूरी जानकारी ली। यहां से उनका काफिला जब सोनभद्र के लिए निकला तो वाराणसी सीमा के भीतर ही उन्हें रोक लिया गया। इसके बाद वे वहीं धरने पर बैठ गईं।प्रियंका ने इससे पहले ट्रॉमा सेंटर से निकलते समय मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेशकी कानून व्यवस्था बहुत खराब है।अपराधियों के हौसले बुलंद हैं, लेकिन पूरा सरकारी अमला सो रहा है। उन्होंने यह सवाल भी किया कि क्या उत्तर प्रदेश ऐसे अपराधमुक्त बनेगा?

प्रियंका ने योगी को लिखा पत्र

इससे पहले गुरुवार कोप्रियंका ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा था। इसमें उन्होंने लिखा था कि मैं राज्य के अपने दौरे के दौरान सुरक्षा इंतजाम की सराहना करती हूं। लेकिन इन सुरक्षा इंतजाम के कारण जनता को होने वाली परेशानी से दुःखी हूं। जनता का सेवक होने के नाते मेरे कारण किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। ऐसे में प्रदेश में यात्रा के दौरान सुरक्षा का दायरा कम से कम रखा जाए, ताकि लोगों को असुविधा का सामना न करना पड़े। प्रियंका गांधी के सुरक्षा में लगे एसपीजी को पसीना बहाने व मशक्कत करने पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *