पिता ने तुलसी का पौधा देखकर बेटी को किया विदा

पर्यावरण संरक्षण के लिए समाज में एक अनोखी मिसाल कायम की

बानसुर के नारायणपुर मे पिताने अपनी बेटी के विवाह में विदाई के समय पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए बानसूर नोदावाली ढाणी ग्राम पंचायत बानसूर के कनिष्ठ लिपिक अशोक कुमार सैनी ने पर्यावरण से जुड़ी हुई मुहिम को आगे बढ़ाया। विदाई के समय अपनी बेटी के हाथ से मंदिर के प्रांगण में पांच फलदार पौधे लगाए साथ में तुलसी का पौधा लगाकर इस मुहिम को आगे बढ़ाया और समाज में लोगों को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया साथ में युवा जागृति संस्थान द्वारा विगत चार वर्षों से चलाए जा रहे बेटी, पानी, पेड़ एवं पर्यावरण संरक्षण के इस संदेश को भी अपनी बेटी के जन्म के समय अपने प्रांगण में पौधा लगाएं साथ में उसके विवाह के समय इस प्रकार का आयोजन अपने यहां भी करें। बेटी के पिता ने अपने यहां यह एक सामाजिक सरोकार के लिए नया नवाचार किया गया। अगर समाज में इसी प्रकार के पर्यावरण संरक्षण के लिए नवाचार करेंगे तो समाज में परिवर्तन आएग। तुलसी का पौधा पवित्र होने के साथ-साथ औषधीय गुणों से भी भरपूर है इसी को ध्यान में रखते हुए बेटी के पिता ने वर-वधू दोनों को एक तुलसी का पौधा लगा गमला भेंट करके अपनी बेटी को विदा किया। इनकी बेटी प्रगति आज नए घर में अपने जीवन का प्रथम दिन घर की दहलीज में पैर रखते ही समाज में पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के साथ-साथ घर की सुख शांति समृद्धि के लिए तुलसी को अपने घर में स्थापित कर इस चलाए गए अभियान को अपने ससुराल में भी आगे बढ़ाएगी। इस मौके पर जगदीश प्रसाद सैनी, ख्यालीराम सैनी, बुधराम, जयमल, पूरण, पप्पू, बलवीर, शिवराम, एसआई किशनलाल सैनी, हेमंत सैनी, हरफूल सैनी, ज्ञानचंद सैनी एवं युवा जागृति संस्थान के अध्यक्ष कुंदनलाल शर्मा, सचिव गोकुल सैनी, संरक्षक गिर्राज सैनी सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined offset: 0 in /home/seobxolk/thelaltain.com/wp-content/plugins/cardoza-facebook-like-box/cardoza_facebook_like_box.php on line 924